बिल्ली की जेर के चमत्कार

मित्रो आपने काली बिल्ली को अक्सर बुरा ही मन होगा मगर विश्वास मानिये बिल्ली भी आपको आसानी से मालामाल बना सकती है।
ज्योतिष शास्त्र में बिल्ली पर बहुत कुछ मिल जायेगा यानी कि काक तंत्र,उल्लूक तंत्र की तरह ही मार्जार तंत्र का विधान है  इसलिए बिल्ली का काफी महत्व माना गया है। इससे जुड़े हुए कई शकुन और अपशकुन बताए गए हैं। वैसे तो  काली बिल्ली घरों जंगलो में होती हैं मगर ये आपके घर में रहने लग जाए तो अपशकुन माना जाता है। देसी बिल्लीयों को इतना मनहूस नहीं माना जाता जितना काली बिल्ली को माना जाता है। ये ही काली बिल्ली अगर आपके घर में बच्चों को जन्म दें तो आप आसानी से मालामाल हो जाएंगे। मगर आमतौर पर ऐसा होना बहोत ही दुर्लभ हैं।
ऐसा माना जाता है कि यदि किसी के घर में बिल्ली अपने बच्चों को जन्म देती है तो उस घर वालों के लिए बहुत शुभ है। उस में बहुत ही जल्द धन, सुख और समृद्धि बढऩे लगती है।

जिस घर में बिल्ली जेर हो उस परिवार के सदस्यों के सभी रुके हुए कार्य आसानी से पूर्ण हो जाते हैं और धन लाभ बढ़ जाता है तथा किसी प्रकार की कोई परेशानी नहीं रहती है।आखिर बिल्ली की जेर दुर्लभ क्यों है? कुछ लोग कहते हैं जेर होती ही नहीं है मगर ये सच नहीं है। जेर तो  होती है मगर जब वो की बच्चों को जन्म देते ही वो जेर खुद खा लेती हैं। खास तरह की बिल्ली यानी पूरी तरह काली बिल्ली अगर आपके घर में बच्चों को जन्म दें तब उसकी जेर  को संभाल लें और अपने पास रख लें। तंत्र शास्त्र के अनुसार ऐसा माना जाता है कि पूरी काली बिल्ली की जेर जिसके पास होती है उसके घर में पैसा ही पैसा होता है। यानि अकस्मात्  धन का आगमन शुरू हो जाता हैं। . जिसके पास बिल्ली कि जेर होती है उसे भी कभी धनाभाव नहीं देखना पड़ता और  – मगर  इस प्रकार के कार्यों या सिद्धियों से प्राप्त धन संगर्ह का  सही उपयोग करे  किसी  गलत कार्यो  में उपयोग में न  लाए  – जितना भी सम्भव हो सके उतना जन कल्याण और अन्य शुभ कार्यों में उपयोग में लए। . आपक स्वयं महसूस करेंगे चमत्कार  कुछ दिनों के पश्चात के  किस प्रकार आपके साथ परिवर्तन हो रहा हैं। 

कैसे प्राप्त करें: बिल्ली कि जेर प्राप्त करना बहुत ही मुश्किल कार्य है और उसमे वो काली बिल्ली जंगली बिल्ली होना जरुरी हैं इसका विशेष प्रभाव होता हैं कुछ ही  भाग्यशाली व्यक्तियों को ही यह प्राप्त हो पाती हैं । .
मगर यहाँ आपका मार्ग सरल कर देते हैं आपको यदि बिल्ली की जेर प्राप्त करनी है तो बिल्ली को गर्भवती देखकर उसे प्रतिदिन कुछ खाने को देवें। जब उसके बच्चा देने या प्रसव का समय नजदीक तो खास ख्याल रखें और ध्यान करें की उसे प्रतिदिन न देकर एकांतर यानी एक दिन छोड़कर एक दिन हलवा खाने को देवें।जिस दिन बिल्ली का प्रसव हो उसी समय भी उसे हलवा खाने को देवें,क्योंकि प्रसव के तुरंत बाद उसे भूख लगती है। आपके द्वारा उसे हलवा खिला देने व जेर को कपड़े से ढक देने से जेर बच जाएगी। अब उसे आप हल्दी सिंदूर से लेपित करके लाल कपड़े में ढककर रख देवें। उसे पूजा स्थान पर रख सकते हैं और उसको प्रतिदिन धुप देकर पूजा करें। 21  बाद उसे पोटली बनाकर पैसे रखने की जगह पर रखें।

यह भी पढ़ें   ब्रह्मास्त्र क्या है ?

पूजा विधि 2 : इसकी पूजा गुरुवार के दिन ही करनी चाहिए। गंगाजल में बिल्‍ली की जेर डालकर निकालें, इससे यह शुद्ध हो जाएगी। अब एक लाल रंग के वस्‍त्र पर बिल्‍ली की जेर रख दें। अब इसके सामने घी या तेल का एक दीपक जलाएं। बिल्‍ली की जेर पर कुमकुम और केसर का तिलक लगाएं। इसके पश्‍चात् फूल और चावल अर्पित करें। संभव हो तो बिल्‍ली की जेर पर कामाख्‍या सिंदूर लंगाकर इसे डिब्‍बी में बंद कर के रख दें। पूजन करते समय || ‘ऊं श्रीं उलूक मम कराया कुरु कुरु नमः’|| मंत्र का जाप करें। अब इस लाल कपड़े को लपेटकर आप अपनी तिजोरी या धन रखने के स्‍थान पर रख दें।

 

Share Post
Share

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Copyright protection